कई गंभीर रोगों के लिए सुरक्षा कवच है अरबी

अरबी, या घुइयाँ ज़मीन के भीतर उगाई जाने वाली उपयोगी सब्ज़ी है। यह गर्मी या वर्षा के मौसम में उगाई जाती है। इसकी अनेकों किस्म जैसे धावालु, काली-अलु, मंडले-अलु, गिमालु और रामालु होती है। लेकिन इन सबमें सबसे उत्तम काली अरबी होती है। अरबी के सेवन से आप अपना वज़न कम कर सकते हैं और यह हृदय रोग, कैंसर, मधुमेह और उच्च रक्तचाप से बचाने में भी सहायक है।

कच्चे रूप में प्रयोग ना करें
अरबी की पत्तियों और जड़ों को आहार सामग्री के रूप में प्रयोग किया जाता है, लेकिन इसमें थोड़ा सावधानी की आवश्यकता है। कच्चे रूप में इसमें कैल्शियम ऑक्जलेट की मात्रा अधिक होने से यह विषैली हो सकती है, हालांकि पकने पर या फिर रातभर ठंडे पानी में डालकर रखने से ये तत्व नष्ट हो जाते हैं। फिर भी कच्ची अरबी के सेवन से बचना चाहिए, इससे सेवन के बाद, गले में जलन पड़ सकती है।

खनिज, कार्बोहाइड्रेट्स का है भंडार
अरबी में उन खनिज, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट और विटामिन्स का भंडार होता है, जो कि मानव स्वास्थ्य के लिए लाभदायक हैं। अरबी में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन बी6 और फोलेट बड़ी मात्रा में पाए जाते हैं। यदि मानव के लिए लाभदायक खनिज तत्वों की बात करें, तो इसमें मैग्निशियम, आयरन (लोहा), जिंक (जस्ता), फॉस्फोरस, पोटेशियम, मैंगनीज, कॉपर (तांबा) बड़ी मात्रा में पाया जाता है।   

अरबी के लाभ

पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद
अरबी में मौजूद फाइबर हमारे पाचन तंत्र को सुचारू रूप से चलाने में सहायक होते हैं। इससे गैस्ट्रिक समस्या, कब्ज और इनसे होने वाले कैंसर की आशंका कम हो जाती है।

कैंसर से बचाव
अरबी का सेवन हमारे शरीर से खतरनार फ्री रेडिकल्स यानी मुक्त कणों को खत्म करने में मददगार है. अरबी में मौजूद विटामिन ए, विटामिन सी और अन्य एंटीऑक्सीडेंट हमारे इम्यून सिस्टम (प्रतिरक्षा प्रणाली) को मजबूत बनाते हैं। ये मुक्त कण ही हमारी स्वस्थ कोशिकाओं को कैंसर कोशिकाओं में बदलते हैं। अरबी में उपलब्ध क्रिप्टोजेनथिन भी मौखिक कैंसर और फेंफड़ों के कैंसर से हमें बचाते हैं।

डायबिटीज में लाभदायक
अरबी का सेवन हमारे शरीर में डायबिटीज के विकास की आशंका को न्यूनतम करता है। इसके सेवन से शरीर में इंसुलिन और ग्लूकोज की मात्रा नियंत्रित रहती है, नतीजतन डायबिटीज की आशंका कम होती है। यही नहीं, जिन व्यक्तियों को पहले से ही डायबिटीज है, उन्हें अरबी का सेवन करना चाहिए, जिससे इसमें मौजूद फाइबर रक्त में शर्करा की मात्रा नियंत्रित करता है।  

आंखों के लिए भी है फायदेमंद
अरबी में विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट्स हैं, जो कि आंखों की कोशिकाओं पर हमला करने वाले मुक्त कणों को रोकते हैं। अरबी का सेवन दृष्टि को बेहतर बनाने में मददगार है। साथ ही यह मोतियाबिंद के मरीजों को भी राहत प्रदान करता है।

त्वचा के लिए लाभदायक
अरबी में उपस्थित एंटीऑक्सीडेंट और फाइबर आपकी त्वचा को स्वस्थ और चमकदार बनाए रखने में मददगार होते हैं। ये आपकी त्वचा और चेहरे की झुर्रियों को कम करते हैं और इस तरह बूढ़े होने की प्रक्रिया को धीमा करते हैं।

सावधानियां

- कच्चे रूप में अरबी का सेवन न करें।

- वात विकारों से पीड़ित व्यक्तियों के लिए अरबी का सेवन हानिकारक है।

- अस्थमा से पीड़ित व्यक्तियों को अरबी के पत्तों की सब्जी नहीं खानी चाहिए।