ये घरेलू नुस्खे मिनटों में दूर करेंगे आपका कान दर्द

कान दर्द की जानलेवा समस्या नहीं है, लेकिन यह काफी कष्टप्रद होता है। फिर आपको अपने रोजाना के काम-काज करने में भी दिक्कतें होती हैं। कानदर्द कई कारणों से होता है, लेकिन इसका प्रभावी इलाज आपके किचन में ही छुपा हुआ है। आप सामान्य जीवन में इस्तेमाल की जाने वाली आहार सामग्री से इसका इलाज कर सकते हैं।
पहले जानते हैं कि किन कारणों से कान-दर्द की समस्या पैदा होती है।

कर्णनलिका में अवरोध: कई बार विभिन्न कारणों से कर्णनलिका में रुकावट पैदा हो जाती है, जिस वजह से कानदर्द होता है।  

दाँतों में उत्पन्न घाव: दांतों में दर्द का सीधा संबंध कान के दर्द से होता है। दांत का दर्द होने से कान में भी समस्याएं पैदा होती हैं।

ईयर वैक्स: कान की लगातार सफाई करना बहुत जरुरी है। लेकिन कान की सफाई किसी क्वालिफाइड डॉक्टर से ही करवाएं अन्यथा स्थिति और भी बिगड़ने की आशंका है।

जोड़ों का दर्द: गठिया रोग का भी सीधा संबंध कान के दर्द से होता है।

क्या हैं घरेलू इलाज

लहसुन: सरसों के तेल में लहसुन को गर्म करें। ठंडा होने पर कानों में 2-3 बूंद डालें। लहसुन के एंटीबायोटिक और एंटीसेप्टिक गुण दर्द और इंफेक्शन को दूर करते हैं।

तुलसी का रस: तुलसी के पत्तों को पीसकर इसका रस कानों में डालें। ऐसा दिन में 2-3 बार करें, लाभ होगा। 

नीम: नीम के पत्तों का रस 2-3 बूंद या नीम का तेल 2-3 बूंद भी कान में डाल सकते हैं। इससे कान दर्द में आराम मिलेगा।

अदरक: अदरक को कूट कर उसका रस निकल लें. अब इस रस को कानों में डालने से दर्द से राहत पाई जा सकती है.

नमक: नमक को अच्छी तरह गर्म करके उसे किसी साफ़ कपड़े में बांध कर कान के जिस भाग में दर्द हो रहा हो उस जगह पर रखें।

जैतून का तेल: जैतून के तेल की कुछ बुँदे कान में डालने से कान दर्द से राहत मिलती है।

प्याज: प्याज को पीस कर इसका रस निकल लें. अब कॉटन की मदद से प्याज के रस की कुछ बुँदे कान में डालें।